Covid-19 के इस दौर में अब घर में भी मास्क पहनने की जरुरत डॉ वीके पॉल

0
6

अब घर में भी मास्क पहनने की जरुरत: नमस्कार, आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने वाले हैं की हाल ही में नीति आयोग के डॉ वीके पॉल का क्या कहना है।

अब घर में भी मास्क पहनने की जरुरत

अब घर में भी मास्क पहनने की जरुरत

हम सभी जानते हैं की जिस प्रकार अभी देश में Covid-19 से पीड़ित (मरीजों) की संख्या लगातार बढ़ती हुई नज़र आ रही है, और ऐसे में सरकार द्वारा रोज नए-नए नियम भी बनाये जा रहे हैं और साथ ही बहुत सारे बयान भी हमारे सामने आ रहे हैं।

हाल ही में नीति आयोग के डॉ वीके पॉल ने यह दवा किया था की Covid-19 अब हवा के माध्यम से भी फ़ैल रहा है, और अब इन्होने लोगों से अपील की है कि आप अब घर में भी मास्क पहनने की जरुरत है। आखिर इसके पीछे कारण क्या है चलिए समझते हैं।

दरअसल डॉ वीके पॉल ने यह दावा किया है की 1 कोरोना से पीड़ित व्यक्ति जब खास्ता है तो उसके मुँह से बहुत ही अधिक मात्रा में कोरोना वायरस निकलते हैं, इसका अनुमान आप इस प्रकार लगा सकते हैं कि 1 कोरोना से पीड़ित व्यक्ति 1 माह अर्थात 30 दिन में 406 लोगों को संक्रमित कर सकता है।

क्योंकि जब तक उसे इस बात की जानकारी होती है कि वह कोरोना पॉजिटिव है तब तक वह लगातार लोगों से मिलता रहता है, जिससे भारत में लगातार कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है।

हमारा मानना है इसमें सिर्फ कोरोना मरीज की ही  गलती नहीं है, हम सभी बिना मास्क के बहार जाते हैं और कुछ तो ऐसे हैं जो मास्क तो लगाते हैं लेकिन नाक के निचे, आप ही सोचिये इससे क्या फायदा है। यही कारण है की आज देश में कोरोना तेजी से बढ़ रहा है।

डॉ वीके पॉल के अनुसार हो सकता है की आपके घर में परिवार का कोई सदस्य कोरोना पॉजिटिव हो और अभी उसमें कोई भी लक्षण ना नज़र आ रहे हो, ऐसे में आप उनके संपर्क में आ सकते हैं और  कोरोना पॉजिटिव हो सकते हैं।

इसलिए आपके लिए जरुरी है की अब आप घर में भी मास्क पहनें और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करें।

ऑक्सीजन की कमी के बारे में डॉ वीके पॉल का क्या कहना है

डॉ वीके पॉल के अनुसार देश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है, समस्या सिर्फ और सिर्फ हॉस्पिटल तक ऑक्सीजन को पहुंचने में आ रही है।

असल में यह सच है कि हमारे देश में ऑक्सीजन की कोई कमी नहीं है लेकिन हमारे पास पर्याप्त साधन नहीं है जिससे तेजी से हॉस्पिटलों तक ऑक्सीजन को पहुंचाया जा सके। जिसके लिए हाल ही में सरकार ने ऑक्सीजन को तेजी से अस्पतालों तक पहुंचाया जा सके इसके लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाने का फैसला किया है।

इसके साथ ही वायु सेना ने भी अपने बड़े विमानों से ऑक्सीजन पहुंचाने वाले टैंकरों को एक जगह से दूसरी जगह पहुंचने का काम कर रही है। जिससे तेजी से हॉस्पिटलों तक ऑक्सीजन पहुंचाया जा सके।

डॉ की सलाह से हॉस्पिटल में भर्ती हों

कोरोना एक ऐसी महामारी है जिसके लिए यह बिलकुल भी जरुरी नहीं है की आपको अस्पताल में भर्ती होना पड़े, आप घर पर ही कोरंटीन हो सकते हैं जरुरी दवाएं खाकर अपने घर पर ही ठीक हो सकते हैं इसलिए अगर आपको लगता है कि आपको अब अस्पताल में भर्ती होना चाहिए तो पहले डॉ की सलाह लें।

सारांश

कोरोना की वजह से देश में हालत बिगड़ रही है इसमें कोई दो राय नहीं है, लेकिन ज्यादातर लोग सिर्फ और सिर्फ घबराने की वजह से अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं, बहुत सारे लोग ऑक्सीजन के सिलेंडर घर में पहले से रख रहे हैं जिससे अगर उन्हें जरुरत पड़े तो उपलब्ध हो, रेमडेसिविर जैसे इंजेक्शन भी बहुत सारे लोग घरों में रख रहे हैं।

सावधानी अच्छी बात है, लेकिन चीजों को घरों में स्टोर करने की वजह से देश में इन चीजों की कमी हो रही है, जिससे जिन्हे जरुरत है उन तक चीजें पहुंच नहीं पा रही है।

इसलिए आपसे अपील है की  बिना मास्क लगाए घर से ना निकलें, थोड़ी-थोड़ी देर में हाथों को धोते रहे और सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करें। जिससे आप कोरोना संक्रमित ना हो और आपको इन चीजों की जरुरत ना पड़े।

इन्हें भी जरूर देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here