Election 2021: नतीजे के बाद नहीं निकलेगा जुलूस EC ने लगाया बैन

0
14

नतीजे के बाद नहीं निकलेगा जुलूस: नमस्कार, जैसा की आप सभी जानते हैं की अभी भारत में कोरोना के मामले सबसे तेजी से बढ़ रहे हैं, जिसे देखते हुए EC (Election Commission) ने यह फैला लिया है की चुनाव के नतीजे घोषित होने के बाद कोई भी जुलुस नहीं निकालेगा, इसके साथ ही यह भी कहा है की सिर्फ 2 लोग ही जीत का सर्टिफिकेट लेने जा सकते हैं।

नतीजे के बाद नहीं निकलेगा जुलूस

नतीजे के बाद नहीं निकलेगा जुलूस

हाल ही में असम, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल और पांडुचेरी में इलेक्शन ख़तम हुए हैं, और इलेक्शन के ख़त्म हो जाने के बाद अब इन सभी जगहों पर कोरोना का कहर बरस पड़ा है।

दरअसल 2 मई को पांच राज्यों के आने वाले चुनाव परिणाम के मद्देनज़र EC (Election Commission) ने यह फैसला लिया है। चुनाव आयोग के द्वारा जारी आदेश में यह कहा गया है कि नतीजों के बाद कोई भी प्रत्याशी सिर्फ दो लोगों के साथ ही अपना जीत का सर्टिफिकेट लेने जा सकता है।

आखिर EC ने नतीजे के बाद नहीं निकलेगा जुलूस जैसा फैसला क्यों लिया है

हाल ही में मद्रास हाईकोर्ट ने कोरोना की दूसरी लहर के बीच चुनाव में भीड़ जुटने, और कोरोना  नियमों के टूटने को लेकर सख्त टिप्पड़ी की थी। अदालत ने कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर  के लिए EC के अफसर जिम्मेदार है, उन पर इस लापरवाही के लिए हत्या का केस दर्ज होना चाहिए।

कोर्ट ने तंज कस्ते हुए चुनाव आयोग का कहा की जब यह चुनाव हो रहा था तब आयोग और उसके अधिकारी किसी दुसरे गृह पर गए हुए थे क्या ?

इसके साथ ही चीफ जस्टिस संजीब बनर्जी ने चुनाव आयोग से कहा है की सार्वजानिक स्वास्थ्य का सबसे अधिक महत्व है और यह चिंताजनक है की संवैधानिक अधिकारीयों को इस सम्बन्ध में याद दिलाना पड़ता है।

अदालत ने चुनाव आयोग को निर्देश दिया है की वो हेल्थ सेक्रेटरी से मिलकर मतगड़ना के दिन के लिए एक प्लान तैयार करें और 30 अप्रैल तक अदालत के सामने पेश करें।

निष्कर्ष

जब 5 राज्यों में चुनाव प्रचार हो रहा था तब Covid-19 की गाइडलाइन को दरकिनार किया गया और बिना मास्क लगाए, सामाजिक दूरी का कोई पालन किये बिना रैलियाँ की गयी, इसके लिए कोई एक पार्टी जिम्मेदार नहीं थी बल्कि सभी  थे।

अब जब कोरोना फ़ैल रहा है तो सभी एक दुसरे के ऊपर आरोप लगा रहे हैं, इसीलिए जो हुआ सो हुआ अब Covid-19 के नियमों का पालन करें जिससे संक्रमण को रोका जा सके और स्तिथि पर काबू पाया जा सके। जिसके लिए सख्त नियमों की आवश्यकता है और EC के द्वारा लगाया गया बैन नतीजे के बाद नहीं निकलेगा जुलूस का पालन किया जाए।

इन्हें भी जरूर देखे

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here