चीन विवाद पर हुई सर्वदलीय बैठक में प्रधान मंत्री मोदी क्या बोले

0
235

सर्वदलीय बैठक में प्रधान मंत्री मोदी: नमस्कार जैसा की हम सभी जानते हैं की आज दिनांक 19, जून 2020 को भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी, और अब सभी लोग यह जानना चाहते हैं की इस सर्वदलीय बैठक में प्रधान मंत्री मोदी क्या बोले।

सर्वदलीय बैठक में प्रधान मंत्री मोदी क्या बोले

चीन विवाद पर हुई सर्वदलीय बैठक

जैसा की गलवान घाटी में हुई हिंसक झड़प के बाद से ही देश में तनाव का माहौल है, इस झड़प में भारत के 20 जवान वीर गति को प्राप्त हुए थे जिसके कारण लोगों में बहुत ही गुस्सा है और देश में तनाव का माहौल है। इन्हीं परिस्थितियों को देखते हुए आज जून 19, 2020, को देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वदलीय बैठक बुलाई थी।

जिसका उद्देश्य- जिसमें अभी के हालातों की समीक्षा करना और आगे की रणनीति बनाना था। इस बैठक में अभी तक के हालातों की समीक्षा करते हुए नरेंद्र मोदी जी ने कहाँ है-

ना कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है, ना ही कोई पोस्ट दुसरे के कब्जे में है।

बता दें की 16 जून 2020 को गलवान घाटी में भारत के कमांडिंग अफसर अपने 50 साथियों के साथ चीन के जनरल के साथ बैठक के लिए गए थे, जहाँ चीन ने धोके से उन पर कील लगे डंडों और दुसरे हथियारों से हमला कर दिया था। जिसमें सुरुवात में 3 और रात तक 20 भारतीय जवानों शहीद हुए थे।

इस पूरी घटना में चीन के भी 43 जवान जोकि शहीद या घायल हुए थे। इस घटना के बाद से ही देश में आक्रोश है और चीनी सामानों का बहिष्कार किया जा रहा है। जिससे देश के लोग आर्थिक रूप से चीन को नुकसान पंहुचा सकें।

आज भारत सरकार के द्वारा चीन के कुछ एंड्राइड एप्प्स की लिस्ट भी जारी की गयी है, जिसके साथ यह भी कहा गया है की सभी लोग इन एप्स को अपने फ़ोन से हटा दें और साथ ही अपने परिवार वालों को भी सलाह दें की वह इन एप्स का इस्तिमाल न करें।

चीन विवाद पर हुई सर्वदलीय बैठक में प्रधान मंत्री मोदी बोले

ना ही कोई हमारी सीमा में घुसा हुआ है और ना ही कोई पोस्ट दुसरे के कब्जे में हैं।

नरेंद्र मोदी जी ने कहा की अब चीन हमारी सीमा / जमीन पर आँख उठा कर भी नहीं देख सकता है, हमारे जवान सीमा पर तैनात है। हमने अपने बॉर्डर एरिया में इन्फ्राट्रैक्चर डेवलमेंट को प्राथमिकता दी है जिससे आज हमारी सेनाएं अलग-अलग सेक्टर से मूव करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।जिससे एलएसी पर हमारी पेट्रोलिंग छमता बढ़ी है।

अब हम अपने दुसमन पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए हैं, जिससे बॉर्डर पर होने वाली गतिविधियों के बारे में हमें पता चलता है। पहले जब कोई बॉर्डर पर आता है तो उन्हें कोई पूछने वाला नहीं था लेकिन अब भारतीय सेना के जवान उन्हें रोकते भी हैं और पूछते भी है।

जिससे इस तरह की झड़प होना स्वाभाविक है और वाद-विवाद भी होते रहेंगे। बॉर्डर पर हमारी जल, थल और वायु सेना पूरी तरह से तैयार है जोकि एक्शन और काउंटर एक्शन के लिए पूरी तरह से तैयार है। हमारी एक इंच जमीन की तरफ भी कोई आँख उठा कर नहीं देख सकता है।

चीन विवाद पर हुई सर्वदलीय बैठक में प्रधान मंत्री मोदी का एक्शन प्लान

पेट्रोलिंग

  • एलएसी पर अब हमारी पेट्रोलिंग की क्षमता बढ़ी
  • पेट्रोलिंग बढ़ने की वजह से सतर्कता बढ़ी

बता दें की अब बलवान  घाटी और दुसरे बॉर्डरों पर भारत ने अपनी पेट्रोलिंग को बढ़ा दिया है, आज सुबह से ही भारत ने अपने वायुसेना को आसमान से सीमा पर नजर रखने की हिदायत दी है। जिसके कारण आज सुबह से ही भारत के लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर उड़न भरते दिखे, मोदी जी ने कहा है की अब हम एलएसी पर अपनी पेट्रोलिंग को पहले की तुलना में बढ़ा रहे हैं।

जिससे अब हमारी सतर्कता बढ़ेगी और चीन की तरफ से होने वाली मूवमेंट पर हमारी नजर होगी, अगर कुछ भी ऐसी-वैसी गतिविधि सीमा पर दिखाई देती है और भारत की सेना तुरंत रेस्पोंस करने के लिए तैयार है।

बताते चलें की भारत की जल सेना, थल सेना और वायु सेना को बॉर्डर पर तैनात कर दिया गया है। इसके साथ ही अलर्ट मोड पर भी रखा गया है।

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है की अब हमारी सेना में वह क्षमता है की वह किसी भी देश के साथ सामने-सामने की लड़ाई लड़ सकती है। इस लिए अगर चीन अब कुछ ऐसी हरकत करता है उसे करारा जवाब दिया जाएगा।

इन्हें भी जरूर देखें