कई शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रूपये के पार, जानें कितना और बढ़ सकते हैं

कई शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रूपये के पार: नमस्कार, जैसा की पिछली खबर में हमने आपको बताया था की अमेरिका की एक तेल कंपनी पर  साइबर अटैक हुआ है। जिसका असर भारत में भी पड़ेगा और पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़ जाएंगे। अब भारत के कई शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रूपये के पार जा चुके हैं और यह कीमत कितनी और बढ़ सकती हैं चलिए इस बारे में जान लेते हैं।

कई शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रूपये के पार

कई शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रूपये के पार

नमस्कार, देश में पिछले एक हफ्ते से पेट्रोल-डीजल की कीमत में लगातार बढ़ोतरी देखी जा रही है। लगातार दिल्ली में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ाये जा रहे हैं जिसकी वजह से कई शहरों में इनकी कीमत 100 रूपये प्रति लीटर के भी पार चली गयी यही।

आज सुबह 6 बजे सरकारी तेल कंपनियों के द्वारा पेट्रोल और डीजल की जो कीमत बताई गयी है उसमें पेट्रोल की कीमत में 27 पैसे और डीजल में 30 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी की गयी है। जबकि कल पेट्रोल की कीमत में 26 पैसे और पेट्रोल में 33 पैसे की वृद्धि की गयी थी।

किन-किन राज्यों में पेट्रोल-डीजल की कीमत 100 रूपये के पार है

  • शश्रीनागर में पेट्रोल 102 रूपये और डीजल 95.06 रूपये लीटर है।
  • अनूपपुर में पेट्रोल 102.40 रूपये और डीजल 93.06 रूपये लीटर है।
  • रीवा में पेट्रोल 102.04 रूपये और डीजल 92.73 रूपये प्रति लीटर है।
  • इंदौर में पेट्रोल 99.90 रूपये और डीजल 90.77 रूपये प्रति लीटर है।
  • भोपाल में पेट्रोल 99.83 रूपये और डीजल 90.68 रूपये प्रति लीटर है।

चार महानगरों में पेट्रोल-डीजल का क्या रेट है

  • दिल्ली में पेट्रोल 91.80 रूपये और डीजल 82.36 रूपये प्रति लीटर है।
  • मुंबई में पेट्रोल 98.12 रूपये और डीजल 89.48 रूपये प्रति लीटर है।
  • चेन्नई में पेट्रोल 93.62 रूपये और डीजल 87.25 रूपये प्रति लीटर है।
  • कोलकाता में पेट्रोल 91.92 रूपये और डीजल 85.20 रूपये प्रति लीटर है।

इस प्रकार देश के विभिन्न राज्यों में पेट्रोल-डीजल की कीमत लगातार बढ़ रही है, अब यह अमेरिका में पेट्रोल कंपनी पर हुए साइबर अटैक का नतीजा है या इसका कोई अन्य कारण भी है इसके बारे में भी थोड़ा जान लेते हैं।

पेट्रोल-डीजल के दाम क्यों बढ़ रहे हैं

जैसा की कई शहरों में पेट्रोल-डीजल के दाम 100 रूपये के पार पहुंच चूका है, इसका मुख्य कारण है क्रूड आयल का महंगा हो जाना, वर्तमान में भारत आईआईएसएल सिक्योरिटीज के वॉइस प्रेसिडेंट (कमोडिटीज एंड करेंसीज)  अनुज गुप्ता ने बताया की फ़िलहाल कच्चे तेल महंगा होना शुरू हो गए है और उम्मीद की जा रही है की इस महीने के अंत तक ब्रेंट क्रूड आयल 75 डॉलर प्रति बैरल तक बढ़ सकता है।

आप यह कह सकते हैं की इसके दो कारण है- 1. अमेरिका में आयल कंपनी पर हुआ साइबर अटैक और 2. तेल के कुओं में आग लग जाना। जिसकी वजह से क्रूड आयल महंगा होता जा रहा है।

भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमत कितनी बढ़ सकती है

एक अनुमान के अनुसार इस महीने के अंत तक क्रूड आयल के दाम आज की तुलना में बढ़ जाएगा जिसका असर यह होगा  की भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि लगातार बढ़ सकती है। जिससे पेट्रोल की कीमत में 4  लीटर की बढ़ोतरी हो सकती है और वहीँ डीजल की कीमत में 3 रूपये की बढ़ोतरी हो सकती है।

क्रूड आयल महंगा होने से पेट्रोल-डीजल की कीमतें इतनी क्यों बढ़ जाती है

क्रूड आयल के महंगा होने से कीमतों में असर सिर्फ इस वजह से ज्यादा पड़ता है क्योंकि इसमें एक्ससाइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें जोड़ने के बाद पेट्रोल के दाम दोगुने हो जाते हैं।

मान लीजिये पेट्रोल की कीमत 40 रूपये है तो अगर इसे दोगुना करें तो 80 रूपये प्रति लीटर कीमत पहुचनी चाहिए लेकिन जब सरकारी तेल की कीमत बढ़ती है तो उस पर एक्ससाइज ड्यूटी, डीलर कमीशन और अन्य चीजें भी बढ़ जाती है जिसकी वजह से कीमतें और तेजी से ऊपर चली जाती है। जिसका असर आम आदमी पर पड़ता है।

इसी वर्ष वित्त मंत्री निरमला सीतारमण ने लोकसभा में बताया था की सरकार को पेट्रोल-डीजल की वजह से कितनी कमाई होती है, अगर आपने उस खबर को नहीं पढ़ा था तो एक बार जरूर पढ़ें।

निष्कर्ष

भारत में जिस तरह के अभी हालात हैं एक तरफ लोग कोरोना के संकट से जूझ रहे हैं और वही पेट्रोल-डीजल की कीमत 100 रूपये के पार चली गयी है। इसका असर निम्न वर्ग और माध्यम वर्ग के लोगों पर पड़ेगा, इसीलिए सरकार को भी चाहिए की वह पेट्रोल-डीजल पर लगने वाले टैक्स को थोड़ा कम करें जिससे लोगों को थोड़ी राहत मिल सके।

लेकिन ऐसा होगा नहीं, क्योंकि सरकार को सबसे ज्यादा मुनाफा पेट्रोल-डीजल से ही होता है। इस वक़्त देश की GDP भी लगातार गिर रही है, हमारा Production Rate निचे जा चूका है और हम Import ज्यादा कर रहे और Export कम। जिसकी वजह से देश में आर्थिक संकट आने की पूरी संभावना है, लेकिन उम्मीद है की कोविड से राहत मिलने के बाद चीजें वापस पटरी पर लौटेंगी और स्तिथि में सुधर होगा।

आपका इस विषय में क्या विचार है हमें कमेंट करके जरूर बताएं धन्यवाद। 

इन्हें भी जरूर देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here