किसान स्पेशल ट्रेन, किसानों के लिए सुनहरा मौका- पढ़ें पूरी खबर

0
78

किसान स्पेशल ट्रेन: भारत सरकार ने किसानों के लिए एक स्पेशल ट्रेन चलाने का ऐलान किया है। जिसकी मदद से अब लाखों किसान अपने अनाजों को दुसरे शहर आसानी से पंहुचा सकेंगे और अच्छा मुनाफा ले सकेंगे। यह सुविधा कोरोना काल को देखते हुए शुरू की गयी है क्योंकि कोरोना की वजह से अभी तक सभी जगहों पर लोगों को बहुत नुकसान हुआ है। जिसके मद्देनजर सरकार ने किसानों को अपने अनाजों की अच्छी कीमत दिलाने के लिए इस योजना की शुरुवात की है।

किसान स्पेशल ट्रेन

किसान स्पेशल ट्रेन

नमस्कार, हम सभी यह तो जानते हैं की कोरोना की वजह से भरत की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बिगड़ती चली जा रही है और आगे भी इसके और भी ज्यादा गिरने के आसार हैं, ऐसे में किसान स्पेशल ट्रेन की मदद से सरकार किसानों को उनके अनाजों को दुसरे शहर पहुंचाने और उन्हें उनके अनाजों का उचित मूल्य दिलाने की यह पहल शुरू की है।

ट्रेन का संचालन 7 अगस्त से किया जा रहा है , यह ट्रेन देवलाली (नासिक रोड) से शुक्रवार को सुबह 11 बजे चलेगी और 31.45 घंटे का सफर के बाद दानापुर शाम 6:45 पर पहुंचेगी। इस ट्रेन के संचालन से नासिक और आसपास के इलाके में रहने वाले किसानों को बहुत लाभ होगा।

जिससे अब किसान अपने फसल को आसानी से दुसरे शहर ले जाकर बेच सकेंगे और मुनाफा ले सकेंगे, इस पहल से किसानों की आर्थिक स्तिथि बेहतर हो सकती है। अब इस किसान स्पेशल ट्रेन को लेकर आपके मन में कई सवाल भी होंगे, जिनमें से ज्यादातर महत्वपूर्ण सवालों के जवाब आपको इस पेज में मिल जाएंगे।

किसान स्पेशल ट्रेन की क्या खूबी है

क्योंकि यह ट्रेन किसानों की फसलों को देखते हुए तैयार की गयी है इसलिए इसके कंटेनर लगभग फ्रिज की तरह होंगे, अर्थात चलता-फिरता कोल्ड स्टोरेज। जिससे किसनों के फल, सब्जी, फिश, मिल्क इत्यादि ख़राब ना हो सके।

आमतौर पर यह देखा गया है की जब भी किसान अपने सामानों को एक स्थान से दुसरे स्थान अर्थात शहर ले जाने का प्रयास करते हैं तो उनका बहुत नुकसान होता है क्योंकि बहुत सारा सामन रास्ते में ही ख़राब हो जाता है। लेकिन किसान स्पेशल ट्रेन की मदद से ऐसा नहीं होगा क्योंकि वह अपना पूरा सामन कोल्ड स्टोरेज में रख कर ले जा सकेंगे।

क्या इस ट्रेन की वजह से किसानों का मुनाफा बढ़ेगा

किसान रेल का मकसद किसानों की इनकम को दोगुना करना है, इस ट्रेन की मदद से किसान देश के कोने-कोने से फल, सब्जी जैसे उत्पादों को कम समय में लाकर ज्यादा मुनाफा कमा सकेंगे। हम इसे इस तरह से समझ सकते हैं की अगर किसान अपने सामानों को ट्रक की मदद से एक शहर से दुसरे शहर लेकर जाते तो इसमें बहुत समय लगता, लागत भी अधिक आती और सामन के ख़राब होने का खतरा भी बना रहता।

ऐसे में किसान स्पेशल ट्रेन की मदद से किसान आसानी से अपने सामन को कम समय में दुसरे शहर लेकर जा सकते हैं और वहां उन्हें बेच कर अच्छा मुनाफा निकाल सकते हैं, जिससे उम्मीद है कि उनका मुनाफा दोगुना हो सकेंगे।

किसान स्पेशल ट्रेन का स्टॉपेज कहाँ-कहाँ होगा

इस ट्रेज को अभी नासिक रोड, मन्मद, जलगांव, भुसावल, बुरहानपुर, खांडवा, इटारसी, जबलपुर, सतना, कटनी, मानिकपुर, प्रयागराज, छिवकी, पंडित दीन दयाल उपाध्याय नगर और बक्सर जैसे शहरों पर रुकेगी।

कितना होगा किराया

अब किराए की बात करें तो नासिक से दानापुर का किराया 4001 रूपये, मन्मद से दानापुर का किराया 3849 रूपये, जलगांव से दानापुर का किराया 3513 रूपये, भुसावल से दानापुर का किराया 3459 रूपये, बुरहानपुर से दानापुर का किराया 3323 रूपये और खांडवा से दानापुर का किराया 3148 रूपये रखा गया है।

कब से कब तक चलेगी यह ट्रेन

शुरुवात में ट्रेन साप्ताहिक चलाने का निर्णय लिया गया है लेकिन बाद में डिमांड के हिसाब से इसकी बारम्बारता बढ़ाई जा सकती है। सेन्ट्रल रेलवे ने सभी किसानों, एग्रीगेटर्स, मार्किट कमिटी और लॉडर्स से आग्रह किया है की वे इस ट्रेन सर्विस का लाभ उठाएं।

सारांश

भारत सरकार द्वारा चलायी गयी किसान स्पेशल ट्रेन से किसानों को आगे चलकर बहुत लाभ मिलने वाला है, क्योकि सुरुवाती दिनों में किसी भी नयी सुविधा का बहुत लाभ तो नहीं मिलता, लेकिन जब सभी चीजें एक व्यवस्थिक ढंग से हो जाएंगी तब किसान आसानी से अपना सामन दुसरे शहरों तक पंहुचा सकेंगे और अच्छा मुनाफा ला सकेंगे।

हम इसे हरित क्रांति की तरफ एक और कदम की तरफ देख सकते हैं, जिसे किसानों की दशा को बेहतर करने के लिए शुरू किया गया है। उम्मीद है की इस कदम से किसानों को अच्छा मुनाफा होगा और उनकी स्तिथि में परिवर्तन होगा, आपका इस सुविधा के बारे में क्या विचार है कमेंट करके जरूर बताएँ।

इन्हें भी जरुर देखें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here