चीन के खिलाफ भारत को मिला अमेरिका का साथ- पूरी खबर

0
51

चीन के खिलाफ भारत: नमस्कार जैसा की हम सभी जानते हैं की भारत के विभिन्न बॉर्डरों पर अभी भारत और चीन के बीच लम्बे समय से विवाद चल रहा है। जिस पर प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिका के रक्षा मंत्री माइक पोम्पिओ ने भारत को खुल कर समर्थन देने की बात कही है।

चीन के खिलाफ भारत

चीन के खिलाफ भारत

बलवान घाटी में हुई भारत और चीन की झड़प के  बाद से ही भारत और चीन के बीच सिमा को लेकर विवाद बढ़ता चला जा रहा हैं, जिसके लिए दोनों ही देशों के बीच कई बैठक भी हो चुकी है। जिसमें हर बार चीन यह कहता है कि वह बात-चीत से इस समस्या को सुलझाना चाहता है।

लेकिन हर बार वह अपनी सेना की संख्या को बॉर्डर पर बढ़ाता जा रहा है। जिसकी वजह से अब भारत और चीन के बीच युद्ध जैसा माहौल तैयार हो चूका है। क्योंकि भारत और चीन दोनों ही बड़े देश हैं और अगर इनके बीच जंग होती है कोई भी देश इस जंग से अछूता नहीं रहेगा।

इसी बीच अमेरिका के रक्षा मंत्री ने बड़ा बयान दिया है, जिसमें उन्होंने यह साफ़ कर दिया है की अमेरिका भारत के साथ है और जिस प्रकार के हालात अभी भारत और चीन के बीच चल रहे हैं उन्हें देखते हुए अब अमेरिका, भारत की ओर से अपने सैनिक तैनात करेगा।

अमेरिका के रक्षामंत्री ने क्या ऐलान किया

माइक पोम्पिओ ने मीडिया में कहा है कि भारत को चीन से इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस और साउथ चाइना सी से खतरा है। जिसके लिए अमेरिका अब इन जगहों पर अपनी सेना तैनात करेगा जहाँ चीन की सेना से सबसे ज्यादा खतरा है।

इस खबर के बाद से एक बात साफ़ हो गयी है कि अब सुपर पावर अमेरिका खुल कर चीन के खिलाफ भारत का साथ देगा।

अमेरिका भारत का साथ देने के लिए भेजेगा सेना

यहाँ अमेरिका के रक्षा मंत्री माइक पोम्पिओ ने साफ़ कर दिया है की वह इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपींस और साउथ चाइना सी की तरफ अपनी सेना भेजेगा, जिससे एक बात पूरी तरह से साफ़ हो गयी है कि अब अमेरिका खुल कर भारत का साथ देगा।

हम आपको बता दें की चीन ने जब से भारत और चीन के बीच लगने वाले बॉर्डर की तरफ अपनी सेना बढ़ाई है तभी से भारत ने भी अपने सैनिकों को बॉर्डर पर भेज दिया है। इस वक़्त भारत की तीनो सेना (जल, थल और नभ) हाई अलर्ट पर है। बॉर्डर के आस-पास जितने भी गाँव हैं उन्हें भी साफ़ कह दिया गया है की सिर्फ जरुरत पड़ने पर ही घर से बहार निकलें अन्यथा घर में ही रहें।

इसी बीच अगर अमेरिका चीन के खिलाफ अपनी सेना को भी भेज देता है तो यकिनंद अब चीन की राहें आसान नहीं होने वाली हैं।

चीन के खिलाफ भारत पर अमेरिका का साथ

कोरोना वायरस की वजह से पहले ही अमेरिका चीन के खिलाफ मोर्चा खोल चूका है, और पूरी  दुनिया इस कोरोना वायरस से होने वाले नुक्सान का जिम्मेदार चीन को मानती रही है। जिससे बचने के लिए चीन ने भारत के खिलाफ सिमा पर कब्ज़ा करने जैसे कदम उठाए थे, उसे लगता था की इस हरकत से सभी देशों का ध्यान चीन और कोरोना  वायरस से हट कर दूसरी तरफ चला जाएगा।

लेकिन अब इस सीमा विस्तार नीति पर भी चीन की चलने वाली नहीं है क्योंकि अब अमेरिका खुल कर भारत का साथ देगा और चीन के खिलाफ अपनी सेना भेजेगा।

इस खबर का सारांश

इस खबर से यह बात साफ़ हो जाती है की भारत और अमेरिका के बीच सम्बन्ध काफी  मजबूत हैं और जैसा की अमेरिका अब चीन के खिलाफ भारत का साथ लिए अपनी सेना भेज रहा है तो इससे चीन की मुश्किलें अब और भी ज्यादा बढ़ने वाली हैं।

पहले ही भारत ने यह साफ़ कर दिया था कि यह 1962 का भारत नहीं है अगर चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आता तो भारत उसके खिलाफ सख्त कदम उठाएगा, अब जिस प्रकार अमेरिका भी भारत के साथ है और अब भारत और अमेरिका की सेनाएँ मिलकर चीन का सामना करने वाली हैं तो हाँ, अब चीन को समझ जाना चाहिए और पीछे हट जाना चाहिए।

इन्हें भी जरूर देखें